• Sun. Dec 10th, 2023

चौरास क्षेत्र में आतंक का पर्याय बना गुलदार हुआ ढेर

ByPrime news

Oct 15, 2023

क्षेत्र के लोगों ने ली राहत की सांस
11 अक्टूबर को गोरसाली गांव में महिला को गुलदार ने बनाया था निवाला
श्रीनगर। कीर्तिनगर विकासखंड के ग्राम पंचायत नौर में घास लेने गई महिला को गुलदार द्वारा निवाला बनाने जाने के चार दिन बाद वन विभाग की टीम को गुलदार को मारने में सफलता प्राप्त हुई है। संपूर्ण चौरास क्षेत्र में खौफ का पर्याय बन चुके गुलदार को मारे जाने की सूचना के बाद क्षेत्र के लोगों ने राहत की सांस ली है।
कीर्तिनगर रेंज के वन क्षेत्राधिकारी बुद्धि प्रकाश ने बताया कि किल्किलेश्वर नौर गांव की महिला को निवाला बनाने वाले गुलदार को नरभक्षी घोषित कर मुख्य प्रतिपालक द्वारा गुलदार को नष्ट करने के आदेश जारी कर दिए गए थे। जिसके बाद वन विभाग द्वारा गठित टीम गुलदार को ढेर करने की कोशिशों में जुट गए। बताया गया कि नैथाणा के पास दो बच्चों पर झपटने की कोशिश की थी। वन विभाग की टीम ने गुलदार को ट्रेन्कुलाइज करने की कोशिश भी की। वन विभाग की टीम को रविवार सांय 6:00 बजे बैरंगना के पास गुलदार के होने की सूचना मिली। इसी बीच शिकारी जॉय हुकील की बंदूक से निकली गोली से गुलदार ढेर हो गया। बताया गया की इस मादा गुलदार की उम्र 6 से 7 वर्ष है। गुलदार को पोस्टमार्टम के लिए रेंज ऑफिस डांगचौरा ले जाया गया है। गुलदार की दहशत के कारण कीर्तिनगर क्षेत्र के विद्यालयों में चार दिनों से छुट्टी घोषित थी। गुलदार को मारे जाने की सूचना के बाद क्षेत्र के लोगों ने राहत की सांस ली। टीम में वन दरोगा सरोप सिंह, सुरेश चंद्र, विनोद लाल, घुमा देवी आदि शामिल रहे।

केंद्रीय विद्यालय के पास हाईवे पर मृत मिला गुलदार
वहीं श्रीनगर में केंद्रीय विद्यालय के पास हाईवे पर शनिवार रात्रि को एक गुलदार मृत मिला। संदेह जताया जा रहा है कि किसी वाहन की चपेट में आकर गुलदार की मौत हुई है। सूचना पाकर वन विभाग की टीम मृत गुलदार को रात में ही नागदेव रेंज परिसर ले गई।
गुलदार की चहलकदमी क्षेत्र में कई जगह देखी जा रही थी।

One thought on “चौरास क्षेत्र में आतंक का पर्याय बना गुलदार हुआ ढेर”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website.